Myths Related To Mental Problems

Myths Related To Mental Problems, facts related to mental diseases, मानसिक रोगों से जुड़े कुछ सच, मानसिक रोगों से सम्बंधित कुछ बातें. 
Myths Related To Mental Problems, facts related to mental diseases, मानसिक रोगों से जुड़े कुछ सच, मानसिक रोगों से सम्बंधित कुछ बातें.
Myths Related To Mental Problems
Mental problems is becoming common in todays hectic life. People are working in too much pressure. Too much tention is there in home as well as in office, Some are facing personal problems, some are facing official problems, some are in pressure due to too much competition.
Generally people try to avoid psychic patients but it is not good, they need great care so in spite of avoiding them, it is good to understand them and help them to adopt the right path.

Let’s Clear Some Concepts Related to Mental Problems:

  1. Is Every Mental Patient is dangerous?-No, every mental patient is not dangerous, some are at beginning stage, some are in depression and so behaving abnormally, some are in misconceptions, some are suffering from OCD etc. These types of patients are not dangerous and never harm other, Only hyper patients are harmful and not always. These patients need proper treatments and care.
  2. A Mental Patient Has To Take Medicines Whole Life:-It is not true in every case, everything depends upon case and environment. So don’t predict anything without proper diagnosis of disease.
  3. Is It Necessary To Give Electric Shock To Every Mental Patient ?-No, this is not true, electric shock therapy is given to only those who are very hyper to control them and it is given under guidance of experts. So it is used only if necessary.
  4. Children of psychic patient also become psychic?-No, this is not true, a little symptoms may arise sometimes but if proper environment is maintained in family then no doubt person is able to live a good life. 

Some More Important Points Related to Mental diseases:

  • Every mental patient memory is not affected, Only change in thinking is seen.
  • It is not possible to get rid of mental disorders by using drugs, alcohol etc so don’t use them.
  • Mental diseases are not contagious so don’t worry about it. 
  • Every mental patient don’t try to do suicide so remove this delusion also from mind.
  • It is not possible to treat mental patients through any types of babas, tantric so don’t waste your money and time in this.
  • It is possible to treat  some mental disorders completely if proper medication is taken, so always consult doctor before reaching at any decision.
So overcome from myths and treat the diseases as diseases only and take proper treatment through homeopathy, yoga , ayurveda, allopathy etc.

आइये जानते हैं हिंदी में मानसिक रोगों के बारे में :

मानसिक रोग आज के दौर में बढ़ता जा रहा है, लोग किसी न किसी प्रकार के मानसिक रोगों से कभी न कभी ग्रस्त हो ही जाते हैं, इसका कारण है आज का माहोल जिसमे की अत्यधिक प्रतिस्पर्धा हो गई है. लोग आज कुछ पाने के लिए कुछ भी करने के लिए तैयार हो जाते हैं. कुछ को घर में परेशानी है , कुछ को ऑफिस में परेशानी है, कुछ को घर और ऑफिस दोनों जगह परेशानी है. लोग आज कल खूब तनाव में काम कर रहे है.
साधारणतः लोग मानसिक रोगियों से दूरी बनाए रखना चाहते हैं जो की सही नहीं है. इन लोगो को बहुत ख्याल रखने की जरुरत है. इनको समझ के इनकी मदद करना चाहिए जिससे की इनमे सही सोच उत्पन्न हो सके और ये एक साधारण जीवन जी सके.

आइये जानते है मानसिक रोगों से जुड़े कुछ भ्रम का जवाब :

हर मानसिक रोगी खतरनाक होता है?
ये बिलकुल भी सही नहीं है, कुछ लोग शुरूआती स्तर पर होते हैं, कुछ लोग अवसाद से ग्रस्त होते हैं, कुछ लोग ग़लतफ़हमी के कारण परेशान रहते हैं आदि. ऐसे रोगी किसी के लिए हानिकारक नहीं होते हैं. सिर्फ वो रोगी जो की बिमारी की गहराई में पहुच चुके है , उन्ही से खतरा होता है क्यूंकि वो कभी भी कुछ भी कर सकते हैं.
मानसिक रोगी को जीवन भर दवाई लेना होता है?
ये भी सच नहीं है, दवाई इस बात पर निर्भर करता है की बिमारी कैसी है और कौनसी अवस्था की है, कुछ लोग कुछ महीनो में ठीक हो जाते हैं कुछ लोगो का इलाज लंबा चलता है. बिना डॉक्टर से सलाह लिए कुछ भी निर्णय पर नहीं पहुचना चाहिए.
हर मानसिक रोगी का इलाज बिजली के झटके से किया जाता है ?
ये भी पूरी तरह से ठीक नहीं है. बिजली के झटके से इलाज उन्ही का किया जाता है जो की बहुत गंभीर हो जाते हैं और उग्र भी. और ये इलाज एक्सपर्ट्स के निगरानी में किया जाता है.
मानसिक रोगियों के बच्चे भी मानसिक रोगी होते हैं?
ये भी जरुरी नहीं है, थोडा बहुत असर कभी कभार दिख सकता है परन्तु अगर सही माहोल में रखा जाए तो व्यक्ति पूरा जीवन अच्छी तरह से जी सकता है.

आइये अब जानते हैं कुछ ख़ास बाते मानसिक रोग से सम्बंधित:

  1. हर मानसिक रोगी की याददाश्त प्रभावित नहीं होती है, परन्तु इनके सोच में बदलाव हो जाता है जिससे की ये अजीबोगरीब व्यवहार करने लगते हैं.
  2. किसी भी प्रकार के ड्रग्स, अल्कोहल आदि का प्रयोग करके मानसिक रोगों का इलाज संभव नहीं है अतः ऐसी कोशिश न करे.
  3. मानसिक रोग संक्रामक नहीं होता है अतः साथ रहने से नहीं फैलता है, अतः घबराना नहीं चाहिए.
  4. हर मानसिक रोगी आत्म-ह्त्या का प्रयास नहीं करता है, अतः हर रोगी के लिए ऐसा सोचना गलत होगा.
  5. तंत्र , मंत्र का प्रयोग करके मानसिक रोगी को ठीक नहीं किया जा सकता है अतः ऐसा नहीं करना चाहिए अन्यथा समय और पैसा बर्बाद हो सकता है.
  6. कुछ मानसिक रोगों को दवाइयों द्वारा बिलकुल ठीक किया जा सकता है अतः डॉक्टर से सलाह लेके इनका इलाज करे और अच्छा और सफल जीवन जियें.
Myths Related To Mental Problems, facts related to mental diseases, मानसिक रोगों से जुड़े कुछ सच, मानसिक रोगों से सम्बंधित कुछ बातें. 

No comments:

Post a Comment