Thyroid An Understanding

What is thyroid

, symptoms of thyroid disease, how to take care of thyroid, क्या है थाइरोइड, क्या है लक्षण, कैसे देख भाल करे थोयरोइड बीमारी में. 
What is thyroid, symptoms of thyroid disease, how to take care of thyroid, क्या है थाइरोइड, क्या है लक्षण, कैसे देख भाल करे थोयरोइड बीमारी में.
Thyroid An Understanding
Thyroid is a gland which is present in our neck. This gland is responsible for very important hormones in body which helps to maintain our metabolism. Whenever this gland is affected by any reason then generate less or more hormones, this state is known as thyroid disease.

Let’s See Some Symptoms of Hypothyroidism:

  • Hypothyroidism disease arise when this hormone not work properly. If this problems is not treated properly in time then person may suffer from cardiac disorder. This type of people faces fast heart beats which is not good for health. 
  • Some people also face depression and tiredness due to hypothyroidism.
  • Pain in joints and muscles also found in patient of hypothyroidism.
  • Since metabolism is affected badly and so weight of person increases very fast which generates various types of problems. 

Know Let’s Know About Hyperthyroidism:

  • In this problem thyroid stimulating hormones become more and due to this patient lose the control on hunger and start eating more and more. 
  • Metabolic rate increase.
  • Person is unable to sleep. 
  • Patient perspires more. 
  • Heartbeat increases.
  • Some also feel hot in body. 

Let’s Know About Some Tests To Diagnose Thyroid Disease:

Three types of tests are done to check this problem these are known as –
  1. T3(triiodothyronine)
  2. T4(thyroxine)
  3. TSH(Thyroid-stimulating hormone)By these test quantity of hormones are known and then medicines are prescribed by doctor. 
Let’s know about Treatment of Hypothyroidism:
The medicines of this disease are available in homeopathy as well as in allopathy but it must be kept in mind that patient has to take these medicines lifelong and be in touch with doctor for checkup.
By taking medicines we can minimise the chances of other diseases.

Some Important Things To Know About Thyroid Disease:

  1. As per research 2 to 5% females from world are suffering from thyroid disease.
  2. From every 10 patient, 8 are females.
  3. Approx 4 crore Indians are suffering from thyroid.
  4. Every year approx 4 crore new patient seen.

Reasons of Thyroid Problems:

There are many reasons found during research , some of them are ------
  1. Lack of physical activities give arise to thyroid problem. 
  2. Abnormal food taking habits also give arise to this problem. 
  3. Some researchers says that some foods have less antioxidants and more salts, these foods affect the secretion of thyroid hormones. 
  4. Some also suffer because of there parents. 

Know Let’s See Some Natural Ways To Keep Our Body Healthy:

  • Use raw coconut/nariyal- It is a good source of fiber and control our weight. So use it with salads, alone, in making chutney etc. 
  • Water-chestnut or singhada is a very good fruit which help to form thyroxin hormones. It is also a good source of calcium and protein. Use it as much as possible when available. Flour of water-chestnut is also very useful. 
  • Cumin or jeera is also a very good which help in digestion, lower down burning sensation, swollen etc. 
  • Green and dry coriander- It has good anti-depression and antioxidants elements and so is very good for thyroid patients. It also maintains the temperature of body. Take it with vegetables, salads etc.
So by knowing about thyroid we can take care of ourselves better. 
आइये अब जानते हैं थाइरोइड के बारे में हिंदी में –

थाइरोइड एक छोटी सी ग्रंथि है जो की गले में पाई जाती है. ये ग्रंथि एक बहुत ही महत्त्वपूर्ण हर्मोन को उत्पन्न करती है जो की शारीर के चयापचय शक्ति को स्वस्थ रखती है.  जब किसी कारण से ये ग्रंथि प्रभावित होती है तो ज्यादा या कम होर्मोनेस उत्पन्न करती है जिसे की बिमारी में गिना जाता है. इससे कई प्रकार की समस्या से व्यक्ति ग्रस्त होता है. 

आइये थाइरोइड बिमारी के कुछ लक्षण देखते हैं :

  • हाइपोथायरोदिस्म के अंतर्गत होर्मोनेस कम बनते हैं जिससे की ह्रदय से सम्बंधित समस्या उत्पन्न हो सकती है. ह्रदय की गति बढ़ने लगती है जो की ठीक नहीं होती है. 
  • कुछ लोग अवसाद से भी ग्रस्त हो जाते हैं.
  • जोड़ो और मांसपेशियों में दर्द रहने लगता है. 
  • चयापचय शक्ति के प्रभावित होने के कारण वजन भी बढ़ने लगता है. 

आइये अब जानते हैं हायपरथायरोडिसम के बारे में :

इसके अंतर्गत ग्रंथि थाइरोइड होर्मोनेस को ज्यादा उत्पन्न करने लगता है जिससे की कई समस्याएं उत्पन्न हो जाती है. 
  • व्यक्ति का भूख पर नियंत्रण नहीं रहता है और वो ज्यादा खाने लगता है. 
  • चयापचय शक्ति बढ़ जाती है. 
  • व्यक्ति की नींद कम हो जाती है. 
  • मरीज को पसीना भी बहुत आ सकता है. 
  • ह्रदय गति बढ़ जाती है. 
  • कुछ लोगो को अधिक गर्मी लगने लगती है. 

आइये अब जानते हैं थाइरोइड समस्या को जानने के लिए जांचो के बारे में :

इसमें ३ प्रकार की जांचे मुख्य है-
  1. टी ३ 
  2. टी ४ 
  3. टी एस एच
इन जांचो के द्वारा होरमोंस की संख्या की जांच होती है फिर उसके आधार पर डॉक्टर दवाइयां देता है. 

आइये अब जानते हैं हाइपो थायरोडिसम के उपचार के बारे में :

इस बिमारी की दावा होमियोपैथी और एलोपथी में उपलब्ध है परन्तु इनका स्तेमाल जिन्दगी भर करना होता है. अतः अपने डॉक्टर के संपर्क में रहे और नियमित जांच करवाते रहे. दवाओ के द्वारा हम अन्य बीमारियों से भी बच सकते हैं. 

आइये अब जानते हैं कुछ महत्त्वपूर्ण तथ्य थाइरोइड से सम्बंधित :

  1. शोध से पता चलता है की विश्व की २ से ५ प्रतिशत महिलायें इस रोग से ग्रस्त है. 
  2. १० में से ८ मरीज महिलायें होती है थाइरोइड की. 
  3. करीब ४ करोड़ भारतीय थाइरोइड की समस्या से ग्रस्त हैं. 
  4. हर वर्ष करीब ४ करोड़ नए मरीज थाइरोइड के जुड़ते हैं. 

आइये अब जानते हैं थाइरोइड समस्या के कारण :

  • थाइरोइड समस्या के उत्पन्न होने के कई कारण हो सकते हैं –
  • शारीरिक गतिविधियों का आभाव इस समस्या को उत्पन्न कर सकता है. 
  • सही खान पान नहीं लेना भी एक कारण हो सकता है. 
  • कुछ भोजन में एंटीऑक्सीडेंट बहुत कम होते हैं और नमक अधिक होता है. ऐसे भोजन से थाइरोइड ग्रंथि को नुकसान पहुचता है. 
  • कुछ लोग तो वांशिक रोग से भी ग्रस्त होते हैं. 

आइये अब जानते हैं कुछ प्राकृतिक तरीके जो की हमारे शारीर को स्वस्थ रख सकते हैं :

  • कच्छा नारियल का स्तेमाल करे – ये फाइबर का अच्छा स्त्रोत है और हमारे वजन को भी नियंत्रित करने में मदद करता है. इसका स्तेमाल सलाद, चटनी आदि बनाने में किया जा सकता है. 
  • सिंघाड़े का स्तेमाल करे , ये फल बहुत ही अच्छा माना जाता है क्यूंकि ये थायरोक्सिन हॉर्मोन को बनाने में मदद करता है. ये कैल्शियम और प्रोटीन का भी अच्छा स्त्रोत है. 
  • जीरा भी बहुत अच्छा होता है, इससे पाचन ठीक रहता है और जलन को भी शांत करता है, सूजन भी उतरता है. 
  • हरा और सूखा धनिया भी बहुत उपयोगी है –इसमें एंटी डिप्रेशन और एंटी ऑक्सीडेंट तत्त्व पाये जाते हैं जो की थाइरोइड मरीजो के लिए बहुत अच्छा होता है. ये शारीर के तापमान को भी बराबर रखता है. इसे सब्जी, सलाद आदि के साथ लेना चाहिए. 
अतः जानकारी रखके हम बेहतर रूप से अपना ध्यान रख सकते हैं. 

What is thyroid, symptoms of thyroid disease, how to take care of thyroid, क्या है थाइरोइड, क्या है लक्षण, कैसे देख भाल करे थोयरोइड बीमारी में. 

No comments:

Post a Comment