RERA ACT For Properties

What is RERA ACT For Properties, Rules and regulation of RERA, Benefits of RERA to Public, क्या है रेरा एक्ट, क्या फायदे होंगे घर खरीदने वालो को इससे. 
What is RERA ACT For Properties, Rules and regulation of RERA, Benefits of RERA to Public, क्या है रेरा एक्ट, क्या फायदे होंगे घर खरीदने वालो को इससे.
What is RERA ACt
RERA means “Real Estate Regulatory Authority”; this act is passed to regulate the Real Estate Sector. Since most fraud is done in property sector and public pays everytime. Now because of this act public will get many benefits or we can say that buyer will get many powers which will definitely help the buyer.

Let’s See Some Important Things About this RERA Act For Builders:

  1. Now builder has to put 70% of the amount taken from buyers in bank and builder is bound to use this amount in construction of building and related work. Due to this builders are not able to use the fund for other projects. But builder can use this amount in project works. Due to this every home buyer can get there home, flat etc on time. 
  2. If builder sell any unregistered project to anyone then there is provision of penalty.
  3. RERA has laws for both commercial and residential projects. 
  4. Now it is necessary to register the real estate agents name.
  5. Now it is necessary to provide updated information about projects to authority which will be published in related website for public knowledge. 
  6. Now builder is not able to change the plan without consent of buyer.
  7. Now every state must make the RERA and it is also necessary to register the projects before july 2017.
  8. Now selling will be done on carpet area.
  9. Now it is also necessary to provide details of how many bookings done and how much money received in every 3 months in project page of RERA.
  10. To make any illegal project legal, it is necessary to deposit 10% of total project cost in RERA.

Let’s See Some Benefits To Buyers:

Now there is no need to contact builder again and again after booking the flat or home anywhere. Transparency will help buyers to know about the projects regularly.
  • If any defect is seen within 5 years after completion of project then builder is responsible for this.
  • Now 70% amount of buyers will have to be deposited in bank which will secure the buyers and help to complete the project on time. 
  • Now it is also necessary to register the project in Pradhikaran within 3 months.
  • All incomplete projects also come in this act. 
  • Now seller can charge for carpet area not of built-up area.
  • There is provision of 3 to 5 year of jail if builder cheat the buyer.
  • Now builder is not able to invest the money of one project in other project.
So RERA is one of the best step of MODI Government and this will definitely help the real estate sector to work honestly. Now everyone can buy without fear because there are good protection laws. This RERA act will enhance buyers which will boost the real estate sectors.

क्या है रेरा एक्ट जानिए हिंदी में ?

रेरा का अर्थ है “रियल एस्टेट रेगुलेटरी अथॉरिटी “, इस एक्ट को जमीन जायदाद, मकान आदि के कारोबार को नियंत्रित करने के लिए बनाया गया है. प्रॉपर्टी के क्षेत्र में सबसे ज्यादा धोखेबाजी होती है और बिल्डर मनमानी भी करते हैं, इन्ही को रोखने के लिए रेरा को बनाया गया है. अब इसके कारण जो लोग घर खरीदना चाहते हैं उनको बहुत सुरक्षा मिलेगी.

आइये जानते है की रेरा में बिल्डरों के लिए क्या ख़ास बाते हैं?

  • अब बिल्डरों को ग्राहकों से लिया गया ७०% धन बैंकों में रंखना होगा और इस पैसे का स्तेमाल उसको सिर्फ इसी प्रोजेक्ट में करना होगा परन्तु इस धन का स्तेमाल प्रोजेक्ट के कामो में किया जा सकता है, इससे ग्राहकों को मकान जल्दी और समय पर मिलने लगेंगे.
  • अगर बिल्डर किसी को बिना रजिस्टर किया गया प्रोजेक्ट बेच दे तो उसे जुर्माना लगेगा.
  • रेरा में रेजिडेंशियल और कमर्शियल दोनों प्रोजेक्ट्स को शामिल किया गया है. 
  • अब रियल एस्टेट एजेंटो का रजिस्ट्रेशन भी अनिवार्य हो गया है. 
  • अब बिल्डरों को अथॉरिटी को ताज़ी जानकारी प्रोजेक्ट से सम्बंधित देना होगा जिसे की वेबसाइट पर डाला जाएगा और लोग उसको देख पायेंगे. 
  • अब बिल्डर बिना ग्राहक के मर्जी के प्लान भी नहीं बदल पायेगा.
  • जुलाई २०१७ से पहले सभी प्रोजेक्ट्स को रजिस्टर करना अनिवार्य हो गया है. 
  • अब बिल्डर ग्राहक से सिर्फ कारपेट एरिया का ही पैसा ले पायेगा.
  • अब बिल्डर को हर ३ माह में ये बताना होगा रेरा के प्रोजेक्ट पेज पर की कितनी बुकिंग आई और कितना धन आया.
  • किसी भी प्रोजेक्ट को वैध करने के लिए प्रोजेक्ट लगत का १० फीसदी रेरा को जमा करना होगा.

आइये अब जानते हैं की घर खरीदारों को क्या फायदे होंगे रेरा से:

अब बिल्डर के चक्कर लगाने की जरुरत नहीं है बुकिंग के बाद, पूर्ण पारदर्शिता रहेगी जिससे प्रोजेक्ट की जानकारी खरीदार को मिलती रहेगी. 
  1. अगर प्रोजेक्ट पूरा होने के ५ साल के अन्दर कोई खराबी आएगी तो उसकी जिम्मेदारी बिल्डर की होगी. 
  2. अब खरीददार का ७०% पैसा बैंक में रहेगा जिससे सुरक्षा बढ़ेगी और प्रोजेक्ट को समय पर पूरा किया जाएगा.
  3. अब प्रोजेक्ट को शुरू होने के ३ महीने के अन्दर प्राधिकरण में रजिस्टर करना अनिवार्य होगा.
  4. जो प्रोजेक्ट पुरे नहीं हुए हैं वो भी इसके अंतर्गत आ गए हैं.
  5. अब खरीददार को सिर्फ कारपेट एरिया का ही पैसा देना होगा.
  6. अगर बिल्डर कोई धोखा धडी करेगा तो ३ से ५ साल के जेल का प्रावधान है.
  7. अब ग्राहक का पैसा किसी और प्रोजेक्ट में नहीं लगा पायेगा बिल्डर.
अतः रेरा एक्ट मोदी सरकार का बहुत ही अच्छा कदम है. इससे रियल एस्टेट इमानदारी से बढेगा. अब हर कोई बिना डर के मकान खरीद सकेगा. इस एक्ट से प्रॉपर्टी का कारोबार बढेगा, इसमें कोई शक नहीं.

What is RERA ACT For Properties, Rules and regulation of RERA, Benefits of RERA to Public, क्या है रेरा एक्ट, क्या फायदे होंगे घर खरीदने वालो को इससे.

No comments:

Post a Comment